Yoga Hai Jaruri : आलस्य त्यागे, योग करें

Yoga Hai Jaruri : Aalas Tyaage, Yog Kare
योग है जरुरी : आलस्य त्यागे, योग करें

Yoga-kyu-Hai-Jaruri-aalas-tyagne-ke-12-point-Aalas-Tyaage-Yog-Kare-Yoga Hai-Jaruri-daily-yoga-kaise-kre-Yoga-Aalas-Tyaag-kr-Yog-Kare-yog-karne-ke-liye-aalas-kaise-tayage
Aalas Tyaag Yog Karne ke Tips

ब विश्व में योग को योग दिवस के रूप में मनाया जा रहा हो तो हम भारतीयों के लिये यह बहुत प्रसन्नता और गर्व का विषय है। योग हमारी संस्कृति की देन है। हमारे प्राचीन ग्रयों में योग के महत्व को स्वीकारा गया है। यदि योग को तन्मयता के साथ करते हैं तो यह शरीर और मस्तिष्क दोनों के लिये बहुत उपयोगी है। सही शब्दों में कहें तो यह जीवन जीने की एक कला है। 

इस पुरानी संस्कृति को पुनः जीवित करने के लिये जो प्रयास किया जा रहा है वह प्रशसनीय तो है ही साथ ही हमारी आने वाली पीढ़ी के लिये मार्गदर्शक भी है। योग सीखना या योग सस्थान में जाना आज के मानव के लिये वरदान है।

योग को फैशन, सामाजिक प्रतिष्ठा, राजनीति या सम्प्रदाय मे न जोड़कर जब एकाग्रता के माथ इस दिशा में आगे बढ़ते है, तब आप स्वय देखेंगे कि आपके व्यक्तित्व में निखार आयेगा और अपनी मंजिल तक पहुंच सकेंगे।

योग की महत्ता को समझने के बाद भी हम लोगों को समय नहीं मिलता या 'सवेरे उठने में आलस्य' आता है आदि बातें कहकर योग न करने के सौ बहाने बना देते हैं। योग सीख लेना ही पर्याप्त नहीं है बल्कि हम प्रतिदिन करते हैं या नहीं यह अधिक महत्तवपूर्ण है। कई कारणों से हम निरन्तर योग नहीं कर पाते लेकिन कुछ ऐसे बिन्दु है जो संभव है आपको प्रतिदिन योग करने के लिये प्रेरित करें।


Aalas Chor Yog Karne Ke Tips | आलस छोड़ योग करने के टिप्स 

1. सबसे पहले योग दिवस पर योग करने की ललक के साथ अपनी दृढ़ इच्छा शक्ति से कदम इस ओर बढ़ायें।

 

2. सवेरे उठने में यदि देर हो जाये तो यह मत सोचिये कि देर हो गई। शुरू में सवेरे उठना बहुत बुरा लगता है इसलिये जल्दी उठने की आदत धीरे-धीरे बनेगी।


3. अगर शनिवार या छुट्टी की रात को देर से सोये तब भी सवेरे उठकर योग करें। अगर नींद आ रही हो तो फिर दोबारा सो जायें।


4. रात को यही प्रयत्न कीजिये कि 10-11 बजे तक सो जायें।


5. सबेरे उठने में यदि बहुत परेशानी लगती हो तो अच्छ होगा घर के दो सदस्य एक साथ योग करें। इससे प्रोत्साहन भी मिलता है और गलतियां भी पता चल जाती है।


6. सवेरे उठने में आलस्य आ रहा हो तो एक झटके में बिस्तर से उठ जाइये। मुंह धोकर थोड़ा टहलिये और फिर सोचिये कि योग आपके लिये उतना ही जरूरी है जितना कि भोजन अथवा पानी।


7. व्यायाम को बोझ समझकर न कीजिये बल्कि इसे आदत बनाने की कोशिश


8. किसी मेहमान के आने या किसी घटना के हो जाने पर योग करना यदि बंद कर दिया है तो 'कल से शुरू करेगे' यह कहकर इसे मत टालिये। योग का क्रम कम से कम टूटे यही प्रयास रहे। पुनः शुरू करने में बहुत असुविधा होती है। 


9. अगर आप ने योग सीख लिया है तो अपने बच्चों या घर के और सदस्यों को इसके लिये प्रोत्साहित करें और उन्हें सिखायें। योग व्यवसाय का भी अच्छ माध्यम है क्योंकि घर-घर में योग के प्रति लोगों की रूचि बढ़ रही


10. आप सवेरे यह सोचकर मत उठिये कि योग करना पड़ेगा, बल्कि यह सोचिये कि योग तो करना ही है।


11. एक दिन में आप योग गुरू नहीं बन सकते। उतना ही सीखिये और करिये जिससे थकान महसूस नहीं हो। धीरेधीरे समय को बढ़ाये।


12. किसी भी मशीन के कलपुजों को संभालना पड़ता है। शरीर भी एक मशीन के समान है। योग द्वारा इसे चुस्ती और गति मिलती है। तन को योग से गति मिलती है और मन को नई सोच। सकारात्मक दिशा के साथ जीवन में नयी उमंग और उर्जा प्रवाहित होती है।


शरीर में कोई रोग हो जाने पर डॉक्टर के पास जाते हैं। घंटों लाइन में खड़े रहते हैं। इसमें भी तो पैसा और समय खर्च होता है। अगर 24 घंटे में से केवल 15 मिनट भी आप नहीं निकाल सकते तो जरा सोचिये, आप किसके लिये जीते है? यदि शरीर है तभी तो समय, धन और संसार है।


✒️✒️✒️✒️✒️

डॉ. उषा अरोड़ा
.....

..... Yoga Hai Jaruri : Aalas Tyaage, Yog Kare [ Ends Here ] .....


Team: VARNAKSHAR